- आत्महत्या मामले में युनिवर्सिटी के डायरेक्टर, प्रोफेसर, और छात्र, छात्रा सहित एनएसयूआई के प्रेसीडेंट के खिलाफ मामला दर्ज

इन्दौर मई 2022 में सेज यूनिवर्सिटी से एमबीए कर रहे छात्र अरुण पिता गिरिजा प्रसाद पटेल निवासी प्रभातम कॉलोनी बेटमा ने अपने घर में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। पुलिस को तब कोई सुसाइड नोट तो नहीं मिल पाया था लेकिन आत्महत्या करने से पहले अरूण ने एक वीडियो बना अपने यू-ट्यूब चैनल पर डाला था, जिसमें उसने जिक्र किया था कि उसके साथ छात्र मारपीट करते थे और उसे प्रताड़ित कर उसकी शिक्षकों से झूठी शिकायत करते थे। जिसके बाद शिक्षक भी उसे प्रताड़ित करते थे। मृतक के पिता ने उसका मोबाइल पुलिस को जांच के लिए देते हुए बयान दर्ज करवाए थे कि मृतक के साथ छात्र नीरज और छात्रा वंदना सहित एन एस यू आइ प्रेसिडेंट ने मारपीट की थी। इस बात की शिकायत उसने प्रोफेसर नीरज सहित यूनिवर्सिटी डायरेक्टर से भी की थी। बावजूद इसके अरुण को ही सभी के द्वारा प्रताड़ित किया गया था। इससे आहत होकर उसने खुदकुशी कर ली थी। उसने अपने यूट्यूब चैनल पर भी प्रताड़ना की बात बताते एक विडियो अपलोड किया था। लंबी जांच के बाद पुलिस ने सेज यूनिवर्सिटी के डायरेक्टर अनिल पटवारी, प्रोफेसर नीरज डोंगरे, छात्रा वंदना, छात्र नीरज सांवले और एनएसयूआई प्रेसिडेंट रवि चौधरी के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है।

Comments About This News :

खबरें और भी हैं...!

वीडियो

देश

इंफ़ोग्राफ़िक

दुनिया

Tag