- एंबुलेंस संचालक के घर दनादन फायरिंग, बाउंड्रीवॉल पर चढ़ाया डंपर

कमीशन वसूली को लेकर देर रात बदमाशों ने शास्त्रीनगर में की वारदात जबलपुर, तिलवारा थाना अतंर्गत शास्त्री नगर में गुरुवार की रात मेडीकल में एम्बुलेंस संचालन रुकवाने की धमकी देकर एक बदमाश ने एंबुलेंस संचालक के घर में डंपर चढ़ाकर न केवल बाउंड्री वॉल तोड़ दी बल्कि दनादना फायरिंग करके सनसनी भी पैâला दी। बताया गया है कि पूरी घटना सीसीटीव्ही वैâमरे में वैâद हो गई, जहां तक आरोपी का सवाल है तो उसे लोकसभा चुनाव के मतदान के दो दिन पहले संजीवनीनगर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था और उसके खिलाफ एनएसए का प्रस्ताव भी तैयार था। लेकिन इसी बीच एक चौकी प्रभारी और एक एएसआई ने प्रभावशाली नेता के रसूख का इस्तेमाल करके आरोपी को न केवल छुड़वाया बल्कि उसे अपनी सरकारी गाड़ी में ले जाकर घर भी छोड़कर आए। जब पुलिस और गुंडों में सांठ गांठ होगी, तो अपराध तो होंगे ही। बताया गया है कि बबलू बाल्मीकी मेडीकल में एंबुलेंस चलाता है और शातिर बदमाश बट्टू पटेल और गोटेगांव निवासी जित्तू पटेल यहां से एंबुलेंस चलाने वालों से रकम वसूल थे। इनकी यहां से लाखों रुपए की इनकम थी। रोज रोज की झंझट से तंग आकर बबलू बाल्मीक और तमाम एंबुलेंस संचालकों ने इन्हें रंगदारी देना बंद कर दिया। इसके बाद से ही ये दोनों एंबुलेंस के संचालन में बाधा उत्पन्न करने लगे। इसी कड़ी में कल रात शातिर बट्टू पटेल ने डंपर चढ़ाकर शास्त्रीनगर निवासी बबलू बाल्मीक के घर की बाउंड्री वॉल तोड़ दी, और दनादन हवाई फायरिंग भी किए। यह पूरा घटनाक्रम सीसीटीव्ही वैâमरे में वैâद हो गया। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है। एंबुलेंस संचालन में लगा रहे अंड़गा.............. पीड़ित शास्त्री नगर निवासी ऋषभ और बबलू बाल्मिक का आरोप है कि उनकी एंबुलेंस है जिसका वे संचालन करते हैं। गंगानगर निवासी बद्दू पटेल और गोटेगांव निवासी जित्तू पटेल कुछ समय से मेडिकल कॉलेज से एंबुलेंस के संचालन में बाधा उत्पन्न कर रहे हैं। इससे पूर्व भी एंबुलेंस संचालक को लेकर दोनों से विवाद हो चुका है। इसके बाद लगभग एक महीने से उनके एंबुलेंस खड़ी थी। गुरुवार को उन्होंने एक महीने बाद एंबुलेंस का पुनसंचालन शुरू किया था। मेडिकल कॉलेज में पहुंचते ही बद्दू और जीतू पटेल ने धमकाया। पीड़ित बोले आरोपी गुंडागर्दी करते हैं.............. पीड़ितों का आरोप है कि बट्टू और जीतू पटेल गुंडागर्दी करते हुए मेडिकल कॉलेज से चलने वाली एंबुलेंस में कमीशन वसूली करते हैं। कमीशन नहीं देने पर मारपीट और एंबुलेंस संचालन रुकवाने की धमकी दी जाती है। इसका विरोध करने के कारण दोनों उनसे रंजिश रखते हैं। दोनों आरोपियों ने इसी वजह से गुरुवार की रात को धमकाने फायरिंग की और डंपर चढ़ाकर बाउंड्रीवॉल तोड़ दी। पीड़ितों ने तिलवारा थाने में उसकी शिकायत दर्ज कराई। चुनाव के पहले एएसआई ने एनएसए से बचाया............... सूत्रों की मानें तो एक आरोपी को लोकसभा चुनाव मतदान के दो दिन पूर्व गुंडों की धरपकड़ के दौरान हिरासत में लिया था। आरोपी बट्टू पटेल पर ३२ अपराधिक मामलें लंबित हैं। पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर उसके खिलाफ एनएसए की कार्रवाई भी प्रस्तावित की जा रही थी, लेकिन उसका रसूख इतना कि एक चौकी प्रभारी एएसआई थाने पहुंच गए और एक रसूखदार नेता के प्रभाव का इस्तेमाल करके उसे थाने से केवल छुड़ा ले गए बल्कि अपनी शासकीय गाड़ी से उसे छोड़कर भी आ गए। बताया जा रहा है कि एंबुलेंस संचालक से कमीशन वसूली, जो १ से डेढ़ लाख होती थी उसका एक हिस्सा इन लोगों तक भी पहुंचता था।

Comments About This News :

खबरें और भी हैं...!

वीडियो

देश

इंफ़ोग्राफ़िक

दुनिया

Tag