- चुनाव खत्म होते ही बढ़ने लगी महंगाई, इलेक्ट्रानिक आइटम के दामों और टोल टैक्स में हुई बढोत्तरी

लोकसभा चुनाव खत्म हो गए हैं। सरकार किसकी बनेगी किसकी नहीं बनेगी ये अभी तय नहीं हुआ है। लेकिन महंगाई बढ़ेगी ये सौ फीसदी तय हो गया है। टीवी,कूलर,फ्रीज,एसी जैसे कई इलेक्ट्रानिक उपकरणों के बढ़े दामों की सूची डीलरों को भेज दी गई है। इसकी मार भी आम उपभोक्ताओं पर पड़ना है। बात यहीं खत्म नहीं होती है जानकारों का मानना है कि आने वाले कुछ ही दिनों में खाद्य पदार्थों के दामों में काफी उछाल आ सकता है। इसकी शुरुआत अमूल दूध ने अपने दामों में वृद्धि करके कर दी है। इधर उत्तर प्रदेश में बिना किसी देरी के टोल टैक्स में इजाफा किया गया है। माल भाड़ा और यात्री भाड़े पर भी असर पड़ेगा। उत्तर प्रदेश के हाइवे पर गाड़ियां लेकर निकलने वालों को अब अधिक टोल देना होगा। राष्ट्रीय राजमार्गों पर सफर करने वालों की जेब पर अब अतिरिक्त भार पड़ेगा। दरअसल, नैशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) ने टोल टैक्स की बढ़ी दरें तीन जून से लागू कर करने का फैसला किया है। आचार संहिता के कारण अब तक इस पर रोक थी। इसका सीधा असर जिले से रोजाना आने-जाने करीब तीन लाख छोटे और भारी वाहनों पर पड़ेगा। एनएचएआई के परियोजना निदेशक सौरभ चौरसिया ने बताया कि अब वाहन चालकों को पहले के मुकाबले 5 से 25 रुपये ज्यादा टोल टैक्स देना पड़ेगा।एनएचएआई की ओर से टोल टैक्स में वृद्धि की गई है। महंगाई भत्ते में वृद्धि के बाद टोल टैक्स में इजाफा किया गया है। एक जून से ही टोल टैक्स में वृद्धि होनी थी, लेकिन चुनावी आचार संहिता लागू होने के कारण इसे लागू नहीं किया जा सका। 1 जून को आखिरी चरण का मतदान पूरा होने के बाद एनएचएआई की ओर से 2 जून को आधी रात से टोल टैक्स में वृद्धि दर को लागू करने का निर्णय लिया गया। गाजियाबाद-नोएडा में 3 फीसदी बढ़ा टैक्स

मेरठ और हापुड़ जाना रविवार रात से महंगा हो गया है। पहले जहां मेरठ जाने के लिए 160 रुपये टोल लगता था, अब यह बढ़कर 165 रुपये कर दिया गया है। टोल में बढ़ोतरी 3 फीसदी के आसपास की गई है। बताया जा रहा है कि इस बार पिछले साल की तुलना में टोल की बढ़ोतरी कम की गई है, जबकि अमूमन हर साल 5 फीसदी की बढ़ोतरी की जाती है। यही बढ़ोत्तरी ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे और एनएच-9 के टोल पर भी किया गया है। मासिक पास लेकर चलने वाले लोगों के जेब पर भी भार डाला गया है। एनएच-9 पर हापुड़ जाने वाले वाहनों को छिजारसी टोल प्लाजा से गुजरने पर 170 रुपये देने होंगे।अभी यहां पर 165 रुपये देना पड़ता था, लेकिन यदि 24 घंटे के अंदर वापस आते हैं तो 250 रुपये का ही टोल लिया जाएगा। यदि महीने का पास बनवाते हैं तो इसके लिए 5595 रुपये का भुगतान करना होगा, लेकिन महीने में अधिकतम 50 चक्कर ही लगा सकते हैं, लेकिन हापुड़ जिले की रजिस्टर्ड कमर्शल वाहन के सिंगल चक्कर पर केवल 85 रुपये का ही टोल लिया जाएगा। इसके अलावा टोल प्लाजा के 20 किलोमीटर के परिधि में रहने वाले लोगों के लिए मासिक पास 340 रुपये में तैयार किया जाएगा। यह पास केवल नॉन कमर्शल वाहन के लिए ही बनेगा। प्रोजेक्ट डायेक्टर धीरज सिंह ने बताया कि टोल रेट का नया रेट जारी कर दिया गया है। इसे रविवार रात 12 बजे से लागू कर दिया गया है।
सराय काले खां से एंट्री पर वाहन रसूलपुर सिकरोड भोजपुर एलएमवी 110 140 165 एलसीवी 180 225 265 बस, ट्रक 375 470 560 3 एक्सल वाहन 405 515 610 4-6 एक्सल वाहन 585 740 875 7 एक्सल से बड़े 710 900 1065 इंदिरापुरम से एंट्री पर वाहन रसूलपुर सिकरोड भोजपुर एलएमवी 55 85 110 एलसीवी 70 140 180 बस, ट्रक 190 290 380 3 एक्सल वाहन 210 315 410 4-6 एक्सल वाहन 300 455 595 7 एक्सल से बड़े 365 555 720 डूडाहेड़ा से एंट्री पर वाहन रसूलपुर सिकरोड भोजपुर एलएमवी 35 65 90 एलसीवी 55 100 145 बस, ट्रक 115 215 300 3 एक्सल वाहन 125 235 330 4-6 एक्सल वाहन 180 335 475 7 एक्सल से बड़े 220 410 575

Comments About This News :

खबरें और भी हैं...!

वीडियो

देश

इंफ़ोग्राफ़िक

दुनिया

Tag